Connect with us

दिन-विशेष

भाजपा वार रूम के खिलाड़ी संकटमोचन अरुण जेतली का अध्याय समाप्त

Published

on

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। दिल्ली विश्वविद्यालय में भाजपा की छात्र इकाई एबीवीपी से राजनीति की शुरूआत कर 1974 में छात्रसंघ का चुनाव जीतकर और अपने पुस्तैनी पेशे वकालत के रास्ते अपनी राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने वाले सूर्य की तरह चमकने वाले अरुण जेतली आज पंचतत्व में विलिन हो गए। भाजपा के के कद्दावर नेता व पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेतली का शनिवार को एम्स में निधन हो गया था। 66 वर्षीय जेतली कैंसर से लंबे समय से जूझ रहे थे। शनिवार 12ः07 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

जेतली को सांस लेने में तकलीफ को देखते हुए उन्हें 9 अगस्त को दिल्ली स्थित एम्स में भर्ती कराया गया था। सॉफ्ट टिश्यू कैंसर से ग्रस्त जेतली लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर थे। उनके निधन की खबर सुनते ही अस्पताल के बाहर उनको देखने और चाहने वाले समर्थकों की भीड़ जुटने लगी थी। उनके पार्थिव शरीर को शाम को उनके कैलाश कॉलोनी स्थित आवास पर लाया गया जहां विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता और प्रमुख हस्तियों ने उन्हें श्रद्धांजलि और श्रद्धासुमन अर्पित किए। महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित अनेक नेताओं ने उनके निधन पर गहरी संवेदना प्रकट करते हुए दुख जताया।

छात्र जीवन से मृदुभाषी अरुण जेतली मित्र बनाने और व्यक्तिगत संबंधों को निभाने में माहिर थे। यही वजह थे कि सभी राजनीतिक दलों में उनके अपने मित्रों की अच्छी-खासी तादाद थी। विपक्षी दलों में उनसे व्यक्तिगत संबंध मानने वाले नेता शामिल थे। विपक्ष में रहते हुए वे प्रतिद्वंद्वी दलों के साथ विरोध भी जताते थे, लेकिन व्यक्तिगत विरोध उनका किसी के साथ नहीं था। उन्होंने ताउम्र अपनी इस गुण को नहीं छोड़ा, यहीं कारण है कि उनके विरोधी भी उनका विरोध करने में हिचकते थे।

1975 में आपातकाल के दौरान जेतली दिल्ली विश्वविद्यालय के बतौर छात्र नेता के तौर पर भी जयप्रकाश नारायण के आंदोलन में शामिल होने पटना पहुंच गए थे और सक्रिय भूमिका निभाई। इसी दौरान वे हिरासत में लिए गए। जेल भी गए। वहीं उनकी मुलाकात उस वक्त के राजनीतिक कार्यकर्ताओं व नेताओं से हुई। जनता पार्टी के गठन होने के बाद वे इसमें शामिल हो गए। 1977 में एबीवीपी के ऑल इंडिया सेक्रेटरी और दिल्ली एबीवीपी के अध्यक्ष नियुक्त किए गए। उसके बाद जेटली ने पेशेवर वकालत शुरू कर दी।

राजनीति करते हुए पेशे से वकील जेतली राजनीति कार्यकर्ताओं की हिमायत करते हुए कोर्ट में खड़े होते रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संकट मोचक के रूप में काम करते रहे हैं। 2002 में जब पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने गुजरात दंगों को लेकर राजधर्म की बात कही थी तो वे अरुण जेतली ही थे जिन्होंने खुलकर तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के बचाव में उतर गए और नैतिक समर्थन देने के साथ-साथ, उनके वकील बनकर कानूनी पचड़ों में घिरे मोदी को अपने पेशेवर अंदाज से बचाया।

मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान संसद के बाहर और अंदर मोदी सरकार पर जब कभी विपक्षी हमलावर हुए तो भाजपा और मोदी सरकार को इन संकट से उबारने के लिए जेतली ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। नोटबंदी, राफेल तीन तलाक, सवर्ण आरक्षण और भगौड़े उद्योगपतियों का देश से पलायन के मामले में अरुण जेतली ने मोदी सरकार का न केवल बचाव किया, बल्कि विपक्षी नेताओं के तीखे सवालों का जवाब भी सधे अंदाज में देते रहे। यही वजह थी कि बहरीन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुण जेटली के निधन की खबर सुनते ही भावुक हो उठे।

आपको बता दें कि अरुण जेतली का परिवार विभाजन के बाद लाहौर से भारत आ गया था। उनके पिता महाराजा किशन जेतली पेशे से वकील थे। जेटली ने कानून की पढ़ाई करने के बाद वकालत का पुस्तैनी पेशा अपनाया। उनकी पत्नी संगीता जम्मू-कश्मीर के कांग्रेसी राजनीतिक परिवार की बेटी हैं। 1980 में भाजपा का गठन होने के बाद अरुण जेतली पार्टी के सक्रिय के सदस्य बने। 1982 में उनकी शादी हुई।

1990 में वीपी सिंह की अगुवाई में जनता दल की सरकार बनी। सरकार में भाजपा और वाम दल भी शामिल थे। वीपी सिंह ने बोफोर्स घोटाले पर सरकार के पक्ष को मजबूती से रखने के लिए अरुण जेतली को भारत का अडिशनल सालिसिटर जनरल बनाया। बोफोर्स की पैरवी में चर्चित हुए अरुण जेतली को 1991 में भाजपा ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जगह दी। 98 में यूएन में जाने वाले भारतीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल रहे थे। 1999 में जब अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार बनी तो उन्हें सूचना एवं प्रसारण मंत्री का स्वतंत्र प्रभार दिया गया।

तीन बार राज्यसभा के सदस्य रहे जेतली 2000 में कानून, न्याय और कंपनी मामलों के कैबिनेट मंत्री और 2009 में राज्यसभा में नेता विपक्ष बने। 2014 में नरेंद्र मोदी की अगुवाई में जब भाजपा की बहुमत वाली सरकार बनी तो अरुण जेतली ने वित्त, कॉरपोरेट अफेयर्स और रक्षा मंत्री का भार भी संभाला। 2018 में जेतली का किडनी ट्रांसप्लांट हुआ। उसके बाद से लगातार उनका स्वास्थ्य गिरता रहा। 24 अगस्त जेतली ने दिल्ली के एम्स में आखिरी सांस ली।

हेल्थ

लाइफस्टाइल3 weeks ago

दिल्ली के सभी प्राइवेट स्कूल बने डेंगू अभियान का हिस्सा

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। दिल्ली में गरीब हो, अमीर हो, मिडिल क्लास का हो, लोअर मिडिल क्लास का हो, चाहे...

हेल्थ3 weeks ago

संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में 362 बेड्स के ट्रॉमा सेंटर का शिलान्यास

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। दिल्ली की स्वास्थ्य सेवाओं में को विस्तार देते हुए मंगोलपुरी में संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में...

हेल्थ3 months ago

बरसात में आंखों में जलन को न करें नजरंदाज, कंजंक्टिवाइटिस के हो सकते हैं लक्षण

गर्मी एवं बरसात के मौसम में आंखों में इंफेक्शन का खतरा काफी बढ़ जाता है। इस मौसम में कंजंक्टिवाइटिस जैसी...

हेल्थ3 months ago

सेहतमंद एवं स्थायी जीवनशैली जीने के लिए बादाम को करें आहार में शामिल!

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। आज की तेज रफ्तार जिंदगी में एक महिला कई भूमिकाएं निभाती हैं। एक माता, एक पत्नी,...

हेल्थ3 months ago

एतिहाद की निजी पहल से बच्चों ने सीखे स्वादिष्ट भोजन बनाने के गुर

काठमांडू, ब्लिट्ज ब्यूरो। अज़ीज़िया मदरसा के बच्चों ने एक स्वादिष्ट सुबह का आनंद लिया क्योंकि उन्होंने उन्हें जीवन भर पकाने...

दुनिया

दुनिया4 weeks ago

आखिर कौन है Greta Thunberg? डोनाल्ड ट्रंप को घूरते हुए Video हो रहा वायरल

नई दिल्ली: 16 साल की बच्ची पर्यावरणविद् ग्रेटा थुनबर्ग (Greta Thunberg) जिसने अमेरिका में आयोजित हुए संयुक्त राष्ट्र के उच्चस्तरीय जलवायु...

दुनिया1 month ago

जापानी फिल्म महोत्सव का आयोजन

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। भारत में तीसरे जापानी फिल्म फेस्टिवल (जेएफएफ इंडिया) के लांचिंग इवेंट में जापान फाउंडेशन के महानिदेशक...

दुनिया2 months ago

कल कश्मीर मुद्दे पर UNSC में बंद कमरे में होगी चर्चा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) से विशेष दर्जा वापस लेने के भारत के...

दुनिया2 months ago

UNSC में पाकिस्तान के पत्र पर चर्चा के लिए चीन ने बुलाई अनौपचारिक बैठक

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ पाकिस्तान की चिट्ठी पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में कोई...

दुनिया2 months ago

धारा 370 हटने से पाक में खलबली, व्यापारिक रिश्ते खत्म, भारतीय उच्चायुक्त को जाने का आदेश

इस्लामाबाद, एजेंसी। भारत द्वारा धारा 370 खत्म किए जाने के बाद से पाकिस्तान में बौखलाहट है। इस बौखलाहट का नतीजा...

बिहार

बिहार1 month ago

ऑटो उत्पाद पर टैक्स कम करने के लिए बिहार तैयार नहीं!

पटना, ब्लिट्ज ब्यूरो। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ऑटो सेक्टर में जीएसटी के अंतर्गत लगने वाले...

एक्सक्लूसिव2 months ago

…बिहार कांग्रेस से मदन की छुट्टी तय, प्रभारी भी बदलेंगे !

नई दिल्ली। बिहार कांग्रेस में घमासान मचा हुआ है। सोशल मीडिया पर बिहार कांग्रेस के छुटभैये नेताओं और कार्यकर्ताओं की...

बिहार2 months ago

केंपा फंड के 47,436 करोड़ में बिहार को 522.95 करोड़ का स्वीकृति पत्र 

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। वन भूमि के इत्तर उपयोग के एवज में विगत 12 वर्षों से केंद्र के केंपा फंड...

बिहार2 months ago

नदियों के अंतर्योजन पर विशेष समिति की बैठक में नदी-जोड़ योजनाओं पर विशेष चर्चा

नई दिल्ली। ब्लिट्ज ब्यूरो। दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में नदियों...

%d bloggers like this: