Connect with us

एक्सक्लूसिव

कस रहा है अहमद पर ED-CBI का फंदा

Published

on

अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल चौथी बार ईडी के समन के बाद चौथी बार प्रवर्तन निदेशालय में हाजिर हुए। मामला स्टर्लिंग बायोटेक लिमिटेड केस में उनकी संलिप्तता से संबंध रखता है। स्टर्लिंग बायोटेक कंपनी पर मनी लॉन्ड्रिंग और बैंकों से धोखाधड़ी का मामला दर्ज है। इसी मामले की छानबीन में ईडी ने 30 जुलाई को अपनी जांच में शामिल होने के लिए पहले अहमद पटेल के दामाद और वकील इरफान सिद्दीकी को भी बुला चुकी है। जांच के दौरान ईडी ने अहमद के दामाद को दोषी माना। जांच में आ रहे फैसल पटेल के नाम को लेकर ईडी के समक्ष इरफान सिद्दीकी ने ही अपने बयान में उनके नाम की तस्दीक कर दी।

ईडी के अधिकारियों के जुड़े सूत्र बताते हैं कि संदेसरा ग्रुप के कर्मचारी सुनील यादव ने स्वीकार किया कि चेतन संदेसरा ने सिद्दीकी और फैसल पटेल को कथित रूप से कोड नाम दिए हुए थे। इसमें इरफान सिद्दीकी का कोड था i2 और फैसल का कोर्ड i1 था। एक कोड का और खुलासा होना बाकी है जिसकी कड़ी अहमद पटेल से सीधी जुड़ सकती है।  फैसल पटेल से दवा कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक के मालिकों और प्रमोटर्स, संदेसरा ब्रदर्स (चेतन जयंतीलाल संदेसरा और नितिन जयंतीलाल संदेसरा) के साथ कथित संबंधों की पूछताछ की जा रही है। ED ने 5,700 करोड़ रुपये के कथित बैंक धोखाधड़ी के मामले में संदेसरा ब्रदर्स के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इसके बाद चर्चा में आने के बाद ईडी ने अगस्त 2017 में ईडी ने संदेसरा ब्रदर्स के खिलाफ मनी-लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी जिसमें सिलसिलेबार खुलासे होते जा रहे हैं।

मुख्य अभियुक्त तक पहुंचने की ईडी-सीबीआई की मुहिम आखिरी मुकाम पर है। मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत ईडी के द्वारा अहमद के बेटे फैसल पटेल और दामाद इरफान सिद्दीकी यानी i2 और i1 का बयान दर्ज किया जा चुका है। सीबीआई और ईडी जहां पहुंचना चाह रही है, वो कांग्रेसी नेता अहमद पटेल फिलहाल गुजरात से राज्यसभा सांसद हैं और पार्टी के कोषाध्यक्ष हैं। तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव के नाते अहमद पटेल ने कई जगह बड़ी सफाई से अपने कारोबार को फैला दिया। अब तक अहमद कांग्रेस के घोटालेबाज नेताओं से अपने आप को बचाने में कामयाब रहे थे। पहली बार दूसरों को फंसाने में माहिर अहमद खुद शिकार बनकर पिंजड़े के करीब पहुंच गए हैं।

गवाह बने सुनील यादव फैसल पटेल और इरफान सिद्दीकी को पहचाना और इनके कोर्ड वर्ड की तस्दीक भी की। सुनील यादव ने ये भी बताया कि फैसल पटेल और इरफान अक्सर पुष्पांजलि फार्महाउस पर पार्टी के नाम पर आते-जाते थे। फैसल ने सुनील के बयानों को सही बताया है और ये भी माना कि फार्म हाउस में होने वाली पार्टी का खर्चा चेतन संदेसरा दिया करता था। फैसल और इरफान दोनों के चेतन संदेसरा से अच्छे संबंध रहे हैं। मामला जब खुला जब 5700 करोड़ के बैंक फ्रॉड का मामला 2017 में सीबीआई के आधीन आया। उसी की परतें खंगालते हुए सीबीआई और ईडी की पूछताछ में संदेसरा बंधु का नाम बैंक में अपनी बैंलेंस शीटों में फिगर चेंज कर अपनी ग्रुप की कंपनियों के लिए बड़े लोन कराते थे। जांच में कड़ियां जुड़ती चली गई और जब i2 और i1 की असली पहचान खुली तो मामला गर्मा गया।

दूसरा मामला कर्नाटक के कद्दावर नेता डीके शिवकुमार की जांच में एक बार फिर से अहमद पटेल के साथ पी. चिदंबरम का नाम जुड़ रहा है। ये दोनों कांग्रेसी नेता जांच में शिवकुमार के साथ हवाला कारोबार में भी जुड़ते नजर आ रहे हैं। जांच में इस बात का भी खुलासा हो चुका है कि अहमद की राज्यसभा सांसदी बचाने के लिए प्रत्येक विधायक को 2-2 करोड़ रुपए देना तय हुआ था। जांच एजेंसियों को पता चला कि ये पैसे शिवकुमार ने हवाला के जरिए उपलब्ध कराए थे। डीके शिवकुमार के सिंडिकेट में अहमद पटेल और दिवंगत नेता व महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के नाम का भी खुलासा हुआ। अहमद के राज्यसभा के मामले में पैसों का जो खुला खेल हुआ, उसमें अहमद के पैसों को विधायकों तक पहुंचाने, उनके रूकने-ठहरने के इंतजामिया डीके शिवकुमार ही बने थे।

अहमद की दुबई और सिंगापुर में जो प्रोपर्टी में निवेश की खबरें छन कर आ रही हैं, वो सभी डीके के जरिए आपरेट होता रहा है। ये सारा मसला अब अनडिस्क्लोज्ड फारेन इनकम एंड एसेट एंड इंपोजिशन आफ टैक्स 2015 विद प्रिवेंशन आफ मनी लांड्रिंग एक्ट (PMLA) 2002 जिसमें शिवकुमार से पूछताछ की जा रही है, उसके 139 के सेक्शन (1) में उसकी आयकर की सालाना रिटर्न, देश के बाहर हिस्सों में प्रोपर्टी को दर्शाया गया है, जो कागजात ईडी को हाथ लगे हैं। देश के बाहर इन बेनामी संपत्तियों से जुड़े और कई रहस्यों पर जांच हो रही है।

पी. चिदंबरम और उनके परिवार पर ईडी के जो केस चल रहे हैं। जांच में अहमद पटेल, मोइन कुरैशी, गगन धवन से जुड़े किस्सों को डीके शिवकुमार से जुड़ते दिख रहे हैं। कई अन्य मामलों के साथ दिल्ली में शिवकुमार द्वारा खरीदे गए मकान जिसमें अनगिनत नगदी बरामद हुई थी। इसमें शिवकुमार के अलावा सचिन नारायण, सुनील कुमार शर्मा, अन्जन्या हनुमनतैया, जो कर्नाटक भवन के कर्मचारी भी हैं और राजेंद्र जो कर्नाटक भवन के पुराने कर्मचारी रहे हैं, अब सुनील शर्मा की ट्रेवल एजेंसी से जुड़कर शिवकुमार के कारनामो को अंजाम दे रहा है।

अहमद के इशारे पर कुछ बड़े मीडिया हाउस और उनके नामीगिरामी पत्रकारों को डीके शिवकुमार द्वारा दिए गए पैसों का भी खुलासा हुआ है। डीके बेंगलुरू और दिल्ली में सुनील शर्मा की ट्रांसपोर्ट कंपनी के जरिए पैसों को इधर-उधर भेजता था। इसी क्रम में एक छापे के दौरान डीके के सफदरजंग स्थित आवास से 8.5 करोड़ नगदी बरामद हुए थे। इससे पहले ये सारा काला कारोबार दिल्ली स्थित कर्नाटक भवन से चलता था। दिल्ली में फ्लैट नंबर 107, फ्लैट नंबर 17 और फ्लैट नंबर 201 बी-5 जो डीके शिवकुमार, सचिन नारायण और सुनील शर्मा के नाम है, यहीं से हवाले के काला कारोबार को अंजाम दिया जा रहा है।

ये सारे घोटाले और भ्रष्टाचार के साथ काले कारोबार का मामला अहमद पटेल पर जाकर खत्म होता दिख रहा है। जांच की आखिरी कड़ी में अहमद पटेल के गले में ईडी और सीबीआई का फंदा कसता जा रहा है। हालांकि देश के नामी-गिरामी मीडिया हाउसेस और लाभार्थी पत्रकार अहमद से जुड़ी खबरों को दबाते रहे हैं। मगर जिस तरीके से ईडी और सीबीआई की जांच चल रही है, कभी भी अहमद और उनके परिजन, करीबियों के लिए बुरी खबर आ सकती है। आगे भी इससे जुड़ी खबरें हम तत्परता से प्रकाशित करते रहेंगे।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हेल्थ

हेल्थ2 months ago

बरसात में आंखों में जलन को न करें नजरंदाज, कंजंक्टिवाइटिस के हो सकते हैं लक्षण

गर्मी एवं बरसात के मौसम में आंखों में इंफेक्शन का खतरा काफी बढ़ जाता है। इस मौसम में कंजंक्टिवाइटिस जैसी...

हेल्थ2 months ago

सेहतमंद एवं स्थायी जीवनशैली जीने के लिए बादाम को करें आहार में शामिल!

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। आज की तेज रफ्तार जिंदगी में एक महिला कई भूमिकाएं निभाती हैं। एक माता, एक पत्नी,...

हेल्थ2 months ago

एतिहाद की निजी पहल से बच्चों ने सीखे स्वादिष्ट भोजन बनाने के गुर

काठमांडू, ब्लिट्ज ब्यूरो। अज़ीज़िया मदरसा के बच्चों ने एक स्वादिष्ट सुबह का आनंद लिया क्योंकि उन्होंने उन्हें जीवन भर पकाने...

प्रदेश3 months ago

भाजपा की आयुष्मान भारत योजना केवल सफेद हाथी, मुश्किल घड़ी में बिहार के साथ ‘आप’ सरकार

नई दिल्ली, ब्लिट्ज संवाददाता। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि बिहार में जिस बीमारी के कारण रोजाना...

ताजा खबरें3 months ago

मुजफ्फरपुर में लगे ‘नीतीश गो बैक’ के नारे, विपक्ष ने साधा सरकार पर निशाना

पटना, ब्लिट्ज ब्यूरो। सुशासन बाबू की मुसीबतें इन दिनों बढ़ती ही जा रही हैं। मोदी के विजयी रथ पर सवार...

दुनिया

दुनिया2 weeks ago

जापानी फिल्म महोत्सव का आयोजन

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। भारत में तीसरे जापानी फिल्म फेस्टिवल (जेएफएफ इंडिया) के लांचिंग इवेंट में जापान फाउंडेशन के महानिदेशक...

दुनिया1 month ago

कल कश्मीर मुद्दे पर UNSC में बंद कमरे में होगी चर्चा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) से विशेष दर्जा वापस लेने के भारत के...

दुनिया1 month ago

UNSC में पाकिस्तान के पत्र पर चर्चा के लिए चीन ने बुलाई अनौपचारिक बैठक

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ पाकिस्तान की चिट्ठी पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में कोई...

दुनिया2 months ago

धारा 370 हटने से पाक में खलबली, व्यापारिक रिश्ते खत्म, भारतीय उच्चायुक्त को जाने का आदेश

इस्लामाबाद, एजेंसी। भारत द्वारा धारा 370 खत्म किए जाने के बाद से पाकिस्तान में बौखलाहट है। इस बौखलाहट का नतीजा...

दुनिया2 months ago

यूएन महासचिव के रिपोर्ट पर भारत सरकार की कड़ी प्रतिक्रिया

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र ने हाल में एक रिपोर्ट जारी किया है जिस पर भारत ने तीव्र प्रतिक्रिया दी है।...

बिहार

बिहार1 week ago

ऑटो उत्पाद पर टैक्स कम करने के लिए बिहार तैयार नहीं!

पटना, ब्लिट्ज ब्यूरो। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ऑटो सेक्टर में जीएसटी के अंतर्गत लगने वाले...

एक्सक्लूसिव3 weeks ago

…बिहार कांग्रेस से मदन की छुट्टी तय, प्रभारी भी बदलेंगे !

नई दिल्ली। बिहार कांग्रेस में घमासान मचा हुआ है। सोशल मीडिया पर बिहार कांग्रेस के छुटभैये नेताओं और कार्यकर्ताओं की...

बिहार4 weeks ago

केंपा फंड के 47,436 करोड़ में बिहार को 522.95 करोड़ का स्वीकृति पत्र 

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। वन भूमि के इत्तर उपयोग के एवज में विगत 12 वर्षों से केंद्र के केंपा फंड...

बिहार1 month ago

नदियों के अंतर्योजन पर विशेष समिति की बैठक में नदी-जोड़ योजनाओं पर विशेष चर्चा

नई दिल्ली। ब्लिट्ज ब्यूरो। दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में नदियों...

%d bloggers like this: