Connect with us

एक्सक्लूसिव

बघेल और सिंहदेव में शीतयुद्ध, स्वास्थ्य विभाग में अवर सचिव द्वारा शिखा राजपूत को जारी नोटिस पर घमासान

Published

on

रायपुर, ब्लिट्ज ब्यूरो। छत्तीसगढ़ राज्य में प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग की संचालक शिखा राजपूत को अवर सचिव की हस्ताक्षर से जारी हुआ नोटिस ने महकमे में बवंडर खड़ा कर दिया। ये नोटिस स्वास्थ्य संचालक शिखा राजपूत तिवारी समेत दो अन्य अधिकारियों को आयुष्मान भारत के एसीईओ विजेंद्र कटरे की नियुक्ति और उनके पे स्केल को लेकर जारी किया गया है। यहीं से बवाल की शुरूआत हो गई। छत्तीसगढ़ सरकार के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के मौखिक निर्देश पर जारी अवर सचिव की नोटिस में कहा गया है कि विजेंद्र कटरे की नियुक्ति में स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश का पालन नहीं किया गया। आदेशात्मक रूप से नोटिस में साफ है कि वेतन वृद्धि के साथ उनका इस पद पर प्रतिस्थापन होना चाहिए था, स्वास्थ्य संचालक शिखा राजपूत ने वित्त विभाग के द्वारा बनाई गई नियमावली के नियमों को अनुसार इस नियुक्ति पर अपनी सहमति दी जिस पर सूबे के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव को घोर आपत्ति है।

सूत्रों के अनुसार मंत्री सिंहदेव ने संचालक स्वास्थ्य शिखा राजपूत को विजेंदर कटरे के संविदा नियुक्ति करने का मौखिक आदेश दिया था। वित्त विभाग के तय नियमों के अनुसार स्वास्थ्य संचालक ने 55 हज़ार पे-स्केल पर संविदा नियुक्ति पर आदेश जारी कर दिया। मगर विभागीय मंत्री की नाराज़गी इस बात को लेकर है कि वीजेंद्र कटरे को लगभग 55 हज़ार रुपये के पे स्केल पर रखा गया था, जबकि कटरे ने 1 लाख 38 हज़ार रुपए की मांग की थी। स्वास्थ्य विभाग की संचालिका शिखा राजपूत ने राज्य वित्त के नियमानुसार संविदा के अंतर्गत नियुक्ति के तहत इस अधिकारी को अधिकतम पे स्केल दिया जा सकता था, वो उन्होंने दे दिया। इसके ऊपर पे स्केल देने और अन्य भत्ते देने के लिए वित्त विभाग की पूर्वानुमति जरूरी है। विदित हो कि वित्त विभाग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के पास है। इस पूरे मामले में अधिकारी को बलि का बकरा बनाया जा रहा है, साथ ही सवाल उठ रहा है कि स्वास्थ्य मंत्री की आखिर ज़्यादा पे स्केल दिलाने के पीछे मंशा क्या है? अगर वे इसमें संविदा की इस विशेष नियुक्ति में विशेष प्रावधान के साथ अधिकारी का वित्त पोषण करना चाहते हैं तो इस विशेष नियुक्ति के लिए उनको मुख्यमंत्री के पास उनकी योग्यताओं और उपलब्धियों का ब्यौरा देते हुए संविदा पर विशेष पद सृजित कराते हुए सीएम बघेल की स्वीकृति लेनी चाहिए थी।

मुख्यमंत्री बघेल और टीएस सिंह देव के बीच भयंकर गर्मी में भी चल रहा शीतयुद्ध अपनी चरम सीमा पर है। मुख्यमंत्री बघेल ने अधिकारियों को नियमावली के अनुरूप काम करने के सख्त आदेश दिए हुए हैं। लड़ाई का असली खेल अधिकारी वीजेंद्र कटरे के खिलाफ कांग्रेस के विपक्ष में रहते हुए लगाए गए आरोपों से जुड़ा है। विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस के प्रवक्ता व संगठन महामंत्री गिरीश देवांगन ने राज्य निर्वाचन आयोग से शिकायत की थी कि स्वास्थ्य विभाग के ये अधिकारी कटरे भाजपा के लिए अस्पतालों में दबाव बनाकर चुनावी चंदे का फ़ंड जुटा रहे थे। इतना ही नहीं वीजेंद्र कटरे के खिलाफ बीमा कंपनियों को फायदा दिलाने, नियम विरुद्ध कार्य करने की शिकायत कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ और आईएमए ने की है, जिसकी जांच भी चल रही है। इस बाबत कटरे के खिलाफ 270 पेज की जांच रिपोर्ट बनी थी। कटरे पर लगे आरोप भी सही पाए गए हैं।  बावजूद इसके विजेंद्र कटरे को बचाकर उच्च वेतन स्तर पर विभाग में जमाए रखने के लिए मंत्री सिंह देव द्वारा अवर सचिव के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग के संचालक को नोटिस जारी करने पर सवाल उठना लाजिमी है।

रमन सरकार के इस चहेते अधिकारी को टीएस सिंह देव द्वारा महत्व देना और उसके लिए अधिकारियों का उत्पीड़न करना भाजपा के एजेंडे को लागू करना है। इसकी भनक मुख्यमंत्री बघेल को लग चुकी है, ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के इस मंत्री का मंत्रीपद जाना तय माना जा रहा है। बघेल समर्थक उत्साहित हैं और वे इस अधिकारी की नियुक्ति के मामले को लेकर स्वास्थ्य विभाग में गड़बड़झाले के अलावा रमन के एजेंट बने सिंहदेव के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। फिलहाल दिल्ली में कांग्रेस हाईकमान की स्थिति साफ नहीं हैं, जिसकी वजह से सिंहदेव अपने दिन गिन रहे हैं। दिल्ली की स्थिति साफ होते ही भूपेश बघेल अपनी मंत्रीमंडल से इनको बाहर का रास्ता दिखा सकते हैं और कांग्रेस मंत्रीमंडल में अन्य मंत्रियों समेत अधिकारियों को रमन सिंह और भाजपा के साथ वफादारी निभाने का नाप देंगे, ऐसे कयास रायपुर में चर्चा के दौरान सचिवालय और विधानसभा के गलियारों में गर्म हैं।

अभिषेक लोहिया एक इंजीनियर टर्न्ड पत्रकार हैं, ब्लिट्ज इंडिया के संस्थापक सदस्य और SEO Head हैं | स्पोर्ट्स के अलावा अभिषेक अंतरराष्ट्रीय राजनीति और टेक्निकल पहलुओं पर लिखना पसंद करते हैं | अभिषेक काफी आरटीआई भी भरते रहते हैं और इसके साथ कई आन्दोलनों में भी सक्रिय रहे हैं | अभिषेक का ट्विटर हैंडल @ChiragLohia2 हैं|

हेल्थ

हेल्थ2 months ago

बरसात में आंखों में जलन को न करें नजरंदाज, कंजंक्टिवाइटिस के हो सकते हैं लक्षण

गर्मी एवं बरसात के मौसम में आंखों में इंफेक्शन का खतरा काफी बढ़ जाता है। इस मौसम में कंजंक्टिवाइटिस जैसी...

हेल्थ2 months ago

सेहतमंद एवं स्थायी जीवनशैली जीने के लिए बादाम को करें आहार में शामिल!

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। आज की तेज रफ्तार जिंदगी में एक महिला कई भूमिकाएं निभाती हैं। एक माता, एक पत्नी,...

हेल्थ2 months ago

एतिहाद की निजी पहल से बच्चों ने सीखे स्वादिष्ट भोजन बनाने के गुर

काठमांडू, ब्लिट्ज ब्यूरो। अज़ीज़िया मदरसा के बच्चों ने एक स्वादिष्ट सुबह का आनंद लिया क्योंकि उन्होंने उन्हें जीवन भर पकाने...

प्रदेश3 months ago

भाजपा की आयुष्मान भारत योजना केवल सफेद हाथी, मुश्किल घड़ी में बिहार के साथ ‘आप’ सरकार

नई दिल्ली, ब्लिट्ज संवाददाता। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि बिहार में जिस बीमारी के कारण रोजाना...

ताजा खबरें3 months ago

मुजफ्फरपुर में लगे ‘नीतीश गो बैक’ के नारे, विपक्ष ने साधा सरकार पर निशाना

पटना, ब्लिट्ज ब्यूरो। सुशासन बाबू की मुसीबतें इन दिनों बढ़ती ही जा रही हैं। मोदी के विजयी रथ पर सवार...

दुनिया

दुनिया2 weeks ago

जापानी फिल्म महोत्सव का आयोजन

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। भारत में तीसरे जापानी फिल्म फेस्टिवल (जेएफएफ इंडिया) के लांचिंग इवेंट में जापान फाउंडेशन के महानिदेशक...

दुनिया1 month ago

कल कश्मीर मुद्दे पर UNSC में बंद कमरे में होगी चर्चा

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (United Nations Security Council) जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) से विशेष दर्जा वापस लेने के भारत के...

दुनिया1 month ago

UNSC में पाकिस्तान के पत्र पर चर्चा के लिए चीन ने बुलाई अनौपचारिक बैठक

जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के खिलाफ पाकिस्तान की चिट्ठी पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में कोई...

दुनिया2 months ago

धारा 370 हटने से पाक में खलबली, व्यापारिक रिश्ते खत्म, भारतीय उच्चायुक्त को जाने का आदेश

इस्लामाबाद, एजेंसी। भारत द्वारा धारा 370 खत्म किए जाने के बाद से पाकिस्तान में बौखलाहट है। इस बौखलाहट का नतीजा...

दुनिया2 months ago

यूएन महासचिव के रिपोर्ट पर भारत सरकार की कड़ी प्रतिक्रिया

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र ने हाल में एक रिपोर्ट जारी किया है जिस पर भारत ने तीव्र प्रतिक्रिया दी है।...

बिहार

बिहार1 week ago

ऑटो उत्पाद पर टैक्स कम करने के लिए बिहार तैयार नहीं!

पटना, ब्लिट्ज ब्यूरो। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि ऑटो सेक्टर में जीएसटी के अंतर्गत लगने वाले...

एक्सक्लूसिव3 weeks ago

…बिहार कांग्रेस से मदन की छुट्टी तय, प्रभारी भी बदलेंगे !

नई दिल्ली। बिहार कांग्रेस में घमासान मचा हुआ है। सोशल मीडिया पर बिहार कांग्रेस के छुटभैये नेताओं और कार्यकर्ताओं की...

बिहार4 weeks ago

केंपा फंड के 47,436 करोड़ में बिहार को 522.95 करोड़ का स्वीकृति पत्र 

नई दिल्ली, ब्लिट्ज ब्यूरो। वन भूमि के इत्तर उपयोग के एवज में विगत 12 वर्षों से केंद्र के केंपा फंड...

बिहार1 month ago

नदियों के अंतर्योजन पर विशेष समिति की बैठक में नदी-जोड़ योजनाओं पर विशेष चर्चा

नई दिल्ली। ब्लिट्ज ब्यूरो। दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत की अध्यक्षता में नदियों...

%d bloggers like this: